ITTEFAQ Lyrics – Savera & Siddhant Chaturvedi

Keep A Place Lyrics from Keep A Place Song is New English song sung by Shenseea with music also given by Shenseea. Keep A Place song lyrics are written by Shenseea

ITTEFAQ Lyrics - Savera & Siddhant Chaturvedi

Song Details:-
Song Title:- ITTEFAQ
Singers:- Savera & Siddhant Chaturvedi
Lyricist:- Siddhant Chaturvedi
Music Composed By:- OAFF & Savera
Music Produced By:- OAFF & Savera
Additional Vocal Production By:- Aria Nanji
Recorded By:- Krina Shah
Mixed & Mastered By:- Prathamesh Dudhane

“ITTEFAQ Lyrics”

Savera & Siddhant Chaturvedi

Raat ye shararti hai
Aur tu bhi ye jaanati hai
Tune dekha mujhe aise
Jaise dekha hi nahi

I see your girlfriends noticing me
I’m a red flag
Main wo ladka nahi
Tu kare small talk
Kuch kehta nahi

Down four shots
Chup rehta nahi
Bas behka hun
Main badla nahi…

Tu ayi aise chal ke
Sharabon se zyada yaadein chalke
Mere yaar kehte jal ke
Naa ja uss oar

Don’t go that way!
We were so good hum kho gaye the
Aye itne kareeb door ho gaye the
Tu ayi mere paas

mere bigade mijaaz
I’m trying so hard yeah!

Itefaq hai hum dono hain saath
Hona hai jo aaj wo
Hone do naa
Kal ka kya pata hum honey kahan

Hum hongey kahan
Hum hongey kahan

Itefaaq hai hum dono hain saath
Hona hai jo aaj
wo hone do naa
Raat ye nashe mein

Na hogi subha
Na hogi subha
Na hogi subha

Adat jo teri chooti thi
Tujhe chutey hi latt ye lagi lab ko
Tu ayi mere paas
mere bigade mijaaz
I’m tryin so hard yeah…

Itefaq itefaq ye nahi hai
Hona yahi tha aur hua bui yahi hai
Chal bhoole saare gham
Ab mujh se kaisi sharam

Dekho na dekho na ye nazara
Main aur tu shuru phir se doobara
Na adhoore rahe hum
Ye baatein ye raatein na ho khatam….

Itefaq hai hum dono hain saath
Hona hai jo aaj wo
Hone do naa
Kal ka kya pata hum honey kahan

Hum hongey kahan
Hum hongey kahan

Itefaaq hai hum dono hain saath
Hona hai jo aaj
wo hone do naa
Raat ye nashe mein

Na hogi subha
Na hogi subha
Na hogi subha

“THE END”


(हिंदी में)

रात ये शरारती है
और तू भी ये जानती है
तूने देखा मुझे ऐसे
जैसा देखा ही नहीं

मैं देख रहा हूँ कि तुम्हारी गर्लफ्रेंड मुझे नोटिस कर रही हैं
मैं एक लाल झंडा हूँ
मैं वो लड़का नहीं
तू करे छोटी-मोटी बातें
कुछ कहता नहीं

चार शॉट नीचे
चुप रहता नहीं
बस बहका हूँ मैं बदला नहीं…

तू आई ऐसे चल के
शराबों से ज़्यादा यादें चले
मेरे यार कहते जल के
ना जा उस ओर

उस तरफ मत जाओ!
हम बहुत अच्छे थे हम खो गए थे
ऐ इतने करीब दूर हो गए थे
तू आई मेरे पास

मेरे बिगाड़े मिजाज़
मैं बहुत कोशिश कर रहा हूँ हाँ!

इतेफ़ाक है हम दोनो हैं साथ
होना है जो आज वो
होने दो ना
कल का क्या पता हम हनी कहाँ

हम होंगे कहाँ
हम होंगे कहाँ

इतेफ़ाक है हम दोनो हैं साथ
होना है जो आज
वो होने दो ना
रात ये नशे में

ना होगी सुबह
ना होगी सुबहा
ना होगी सुबहा

आदत जो तेरी छूटी थी
तुझे छूटे ही लटकी ये लगी लैब को
तू आई मेरे पास
मेरे बिगाड़े मिजाज
मैं बहुत कोशिश कर रहा हूँ हाँ…

इतेफ़ाक़ इतेफ़ाक़ ये नहीं है
होना यही था और हुआ बुई यही है
चल भूले सारे ग़म
अब मुझ से कैसी शर्म

देखो ना देखो ना ये नज़रा
मैं और तू शुरू फिर से दोबारा
ना अधूरे रहे हम
ये बातें ये रातें ना हो खतम….

इतेफ़ाक है हम दोनो हैं साथ
होना है जो आज वो
होने दो ना
कल का क्या पता हम हनी कहाँ

हम होंगे कहाँ
हम होंगे कहाँ

इतेफ़ाक है हम दोनो हैं साथ
होना है जो आज
वो होने दो ना
रात ये नशे में

ना होगी सुबह
ना होगी सुबह
ना होगी सुबह

“समाप्त”


ITTEFAQ – OAFF | Savera | Siddhant Chaturvedi | Wamiqa Gabbi | Anshul Garg

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

11 + three =