Rafta Rafta Lyrics – Salman Ali & Manali Chaturvedi – Abhishek Duhan & Simrithi Bhatija

Rafta Rafta Lyrics from Rafta Rafta Song is latest Hindi song sung by Salman Ali & Manali Chaturvedi with music also given by Kashi Richard. Rafta Rafta song lyrics are written by Nikhat Khan

Rafta Rafta Lyrics - Salman Ali & Manali Chaturvedi - Abhishek Duhan & Simrithi Bhatija

Song Details:-
Song Title:- Rafta Rafta
Singer:- Salman Ali & Manali Chaturvedi
Composer By:- Kashi Richard
Lyricist:- Nikhat Khan
Actors:- Abhishek Duhan & Simrithi Bhatija
Director By:- Hemant Sharan
Producer By:- Sachit Jain & Sakshi Jain
Editor By:- Sanjay Kumar
D.O.P By:- Rupam Chetiapatra
Mixed & Mastered By:- Akash Dew
Producer By:- Sachit Jain
Post By:- Zee Music Company
Released Date:- 28 Oct 2022

“Rafta Rafta Lyrics”

Salman Ali & Manali Chaturvedi

Na Kasoor Hai Mera
Na Kasoor Dil Ka Hai
Ye Khata To Hai Teri
Tu Khubsoorat Hai

Andekhe Dhaago Se
Tu Bandh Raha Hai Mujhko
Mera Dil Karta Hai
Inn Dhaago Mein
Bandhta Hi Jaau

Rafta Rafta Ki Rafto Mein Tere Aa Jau
Rafta Rafta Sikast Main Tujhse Paa Jau
Rafta Rafta Ki Rafto Mein Tere Aa Jau
Rafta Rafta Sikast Main Tujhse Paa Jau

Maine Neend Ko Aane Na Diya Tere Liye
Sau Sau Bahane Karti Hai Aankhe Tere Liye
Kya Kahu Main Kisse Kahu Mere Dil Ki
Aabhi Ja Ab Bed Sirhaane Mere Liye

Tu Kinna Masum Hai
Ye Mujhe Maalum Hai
Main Tere Uthe Mar Gayi Aa
Tu Sohna Mera Yaar Ve

Sanso Ki Jagah Tum Ho
To Main Jee Jau

Rafta Rafta Ki Rafto Mein Tere Aa Jau
Rafta Rafta Sikast Main Tujhse Paa Jau
Rafta Rafta Ki Rafto Mein Tere Aa Jau
Rafta Rafta Sikast Main Tujhse Paa Jau

Ek Tarfa Duniy Ko Maine Kar Diya
Jabse Tujhe Apna Hi Maine Keh Diya
Tere Sadke Main Vaar Doon Ab Har Khushi
Tujhko Apna Humnava Maine Chun Liya

Tu Kinna Pyar Karti Hai
Ye Mujhe Maalum Na Tha
Main Tere Uthe Mar Gayi Aa
Tu Sohna Mera Yaar Ve

Tere Ishqe Dariya Mein
Dil Kare Beh Jaau

Rafta Rafta Ki Raft Mein Tere Aa Jau
Rafta Rafta Sikast Main Tujhse Paa Jau
Rafta Rafta Ki Raft Mein Tere Aa Jau
Rafta Rafta Sikast Main Tujhse Paa Jau.

“THE END”


(हिंदी में)

ना कसूर है मेरा
ना कसूर दिल का है
ये खाता तो है तेरी
तू ख़ूबसूरत है

देखे धागो से
तू बंद रहा है मुझे
मेरा दिल करता है
सराय ढागो में
बंधन हाय जौ

रफ़्ता रफ़्ता की रफ़्त में तेरे आ जौ
रफ़्ता रफ़्ता सिकास्ट मैं तुझसे पा जौ
रफ़्ता रफ़्ता की रफ़्त में तेरे आ जौ
रफ़्ता रफ़्ता सिकास्ट मैं तुझसे पा जौ

मैंने जरूरत को आने ना दिया तेरे लिए
सौ सौ बहाने कार्ति है आंखे तेरे लिए
क्या कहू मैं किस कहूं मेरे दिल की
अभी जा अब बिस्तर सिरहाने मेरे लिए

तू किन्ना मासूम है
ये मुझे मालुम है
मैं तेरे उठते मार गई आ
तू सोहना मेरा यार वे

सांसो की जग तुम हो
टू मेन जी जौ

रफ़्ता रफ़्ता की रफ़्त में तेरे आ जौ
रफ़्ता रफ़्ता सिकास्ट मैं तुझसे पा जौ
रफ़्ता रफ़्ता की रफ़्त में तेरे आ जौ
रफ़्ता रफ़्ता सिकास्ट मैं तुझसे पा जौ

एक तरफ़ा दुनिया को मैंने कर दिया
जबसे तुझे अपना ही मैंने कहा दिया
तेरे सदके मैं वार दूं अब हर खुशी
तुझको अपना हमनावा मैंने चुन लिया

तू किन्ना प्यार कार्ति है
ये मुझे मालुम ना था
मैं तेरे उठते मार गई आ
तू सोहना मेरा यार वे

तेरे इश्क दरिया में
दिल करे बह जाऊ

रफ़्ता रफ़्ता की रफ़्तार में तेरे आ जौ
रफ़्ता रफ़्ता सिकास्ट मैं तुझसे पा जौ
रफ़्ता रफ़्ता की रफ़्तार में तेरे आ जौ
रफ़्ता रफ़्ता सिकास्ट मैं तुझसे पा जाउ।

“समाप्त”

 

Rafta Rafta – Dhoop Chhaon | Salman Ali & Manali Chaturvedi | Abhishek D, Simrithi B | Kashi Richard

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × 5 =